हमारे लिए ऊर्जा के परम-स्रोत...

Wednesday, 13 March 2013



जीवन की ये रीत


                                    पल दो पल
                                    सब चलेंगे साथ
                                    इतनी बात

                                        ***

                                    विचित्र लगे
                                    जीवन की ये रीत
                                    शत्रु था मीत

                                        ***

                                    मौत देती है
                                    जिंदगी के द्वार पे
                                    एक दस्तक

                                        ***

7 comments:

  1. छोटी पर सन्देश देती हुई रचनायें---बधाई
    आग्रह है आप भी मेरे ब्लॉग
    jyoti-khare.blogspot.in पर सम्मलित हो
    आभार

    ReplyDelete
  2. सत्य दर्शाते हाईकु....
    ~सादर!!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक धन्यवाद!

      Delete
  3. जीवन का सच दिखाते सुन्दर हाईकु
    सादर !

    ReplyDelete
  4. जीवन को परिभाषित करते हायकू-देखने में छोटे, पर हृदय के अंतस्थल को छूने में सक्षम!

    ReplyDelete

आपकी प्रतिक्रिया हमारा उत्साहवर्धन और मार्गदर्शन करेगी...