हमारे लिए ऊर्जा के परम-स्रोत...

Saturday, 2 November 2013

आई दीपावली



आई दीवाली
काली अँधेरी रात
हुई रौशन
***    
पूजा-अर्चना
दीप हुए रौशन
हर्षित मन
***    
चले पटाखे
ढेर सारी मिठाई
खील-बताशे
***    
बिखरा किए
फुलझड़ी के फूल
चहके बच्चे
***    
चमके मन
दहके जो अनार
फूल हजार
***    
अंधकार में
खूब छटा बिखेरें
दीपों की माला
***

दीपावली पर हमारी हार्दिक शुभकामनाएं!

5 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज रविवार (03-11-2013) "बरस रहा है नूर" : चर्चामंच : चर्चा अंक : 1418 पर भी है!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का उपयोग किसी पत्रिका में किया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    प्रकाशोत्सव दीपावली की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर हाइकू
    दीपावली की शुभकामनाएं !
    नई पोस्ट आओ हम दीवाली मनाएं!

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक आभार!
      दीपावली पर अनेकों शुभकामनाएं!!
      सादर,
      सारिका मुकेश

      Delete
  3. सुन्दर हाइकू ... दीपावली पे जगमगाते हुए ...
    दीपावली के पावन पर्व की बधाई ओर शुभकामनायें ...

    ReplyDelete
  4. वाह!!! बहुत सुंदर !!!!!
    उत्कृष्ट प्रस्तुति
    बधाई--

    उजाले पर्व की उजली शुभकामनाएं-----
    आंगन में सुखों के अनन्त दीपक जगमगाते रहें------

    ReplyDelete

आपकी प्रतिक्रिया हमारा उत्साहवर्धन और मार्गदर्शन करेगी...