हमारे लिए ऊर्जा के परम-स्रोत...

Sunday, 5 August 2012


दिल में  जो दर्द  है  आँखों में छुपा लेते हैं,
हम  तेरी  याद को  पलकों पे सजा लेते हैं!
किस्सा अब तेरी बेवफाई का यूँ आम हुआ,
गैर  तो गैर  अब अपने  भी  मजा  लेते हैं!

2 comments:

आपकी प्रतिक्रिया हमारा उत्साहवर्धन और मार्गदर्शन करेगी...